Mechanical Engineering Kya Hai • Mechanical Engineer Kaise bane - in HINDI

What is Mechanical Engineering in HINDI - दोस्तों दसवीं के बाद अक्सर बच्चे अपने भविष्य को लेकर सोच में पड़ जाते हैं कि आगे क्या किया जाए। लंबी पढ़ाई और शॉर्ट टर्म कोर्स में से किसी एक को चुनना कई बार मुश्किल हो जाता है। अगर बात शॉर्ट टर्म कोर्स की है तो दसवीं के बाद कई सारे कोर्स ऐसे हैं जो आपको अपनी पसंद के मुताबिक करियर ऑप्शन चुनने में मदद करते हैं। science फ़ील्ड के बचे इंजीनियरिंग लाइन में जाने का सपना देखते हैं। ऐसे में ITI बहुत अच्छा ऑप्शन बन जाता है। तो चली जानते हैं कि ITI होता क्या है और इसके जरिए किस-किस कोर्स में आप एडमिशन लेकर मैकेनिकल इंजीनियर बन सकते हैं मैकेनिकल इंजीनियरिंग करके आप किस-किस फ़ील्ड में नौकरी पा सकते हैं। इसके बारे में भी हम आपको अपने इस पोस्ट में बताएँगे। इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।





मैकेनिकल इंजीनियरिंग किसे कहते हैं ?

इंजीनियरिंग के सबसे पुराने और व्यापक क्षेत्रों में से एक है मैकेनिकल इंजीनियरिंग ये क्षेत्र मशीनों के डिज़ाइन निर्माण और उपयोग से जुड़ा हुआ है इसमें बच्चों को यह सीखने को मिलता है कि कैसे बड़े और भारी मशीन काम करते हैं। जो स्टूडेंट मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते हैं। वह ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिक मोटर्स, एयरक्राफ़्ट अन्य भारी वाहनों के डिज़ाइन के बारे में इसमें सीखते हैं। मैकेनिकल इंजीनियर नई बैटरी के एथलेटिक्स के सामान से लेकर चिकित्सा उपकरणों और पर्सनल कंप्यूटर एयर कंडीशनर ऑटोमोबाइल इंजन से लेकर बिजली संयंत्रों तक सब कुछ डिज़ाइन करते हैं। ये इंजीनियर उन मसिनो को भी डिज़ाइन करते हैं जो नई खोजी गई है।



मैकेनिकल इंजीनियरिंग का क्या भविष्य है ?

दोस्त अब मशीनों का युग आ चुका है और अब भारत और विदेश में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए बहुत बड़ा मौका है। लाइफ के हर क्षेत्र में मैकेनिकल इंजीनियर की जरूरत है। भारत में मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के लिए कई सारे कोर्सेज उपलब्ध है। सबसे अच्छा तो यह है कि स्टूडेंट्स 12वीं तक की पढ़ाई पूरी करके B.Tech और M.Tech करें। लेकिन जो बचे दसवीं के बाद इस लाइन में आना चाहते हैं उनके लिए भी कई सारे मौके इस लाइन में उपलब्ध है।



दसवीं के बाद मैकेनिकल इंजीनियरिंग कैसे करें ?

अगर आप मैकेनिकल इंजीनियर बनने का सपना रखते हैं और जल्दी ही कमाई शुरू करना चाहते हैं तो दसवीं कक्षा के बाद कई सारे ITI कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज और इंजीनियर इंस्टुट मैकेनिकल इंजीनियरिंग से जुड़ी कोर्स जिसे डिप्लोमा करती है। दसवीं के बाद इन सब जगह पर बहुत अच्छे ऑप्शन मिल जाते हैं। अपनी रूचि के अनुसार पढ़कर अपनी पसंद की फील्ड में कदम रखने का तो ITI या पॉलिटेक्निक के अपने कॉलेज होते हैं जो स्कूल पूरा करने के बाद छात्रों को आसान रोज़गार दिलाने के लिए कोर्स कराते हैं और प्लेसमेंट भी देते हैं। ये वोकेशनल सेंटर होते हैं। यह वोकेशनल केंद्र छात्रों को उनकी रूचि के क्षेत्र में प्रशिक्षित करते हैं ताकि उन्हें कोर्स खत्म होने के बाद जल्दी ही नौकरी मिल सके।



ITI पॉलिटेक्निक से मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के फायदे क्या-क्या है ?

दुनिया में सभी लोग डॉक्टर या इंजीनियर बनने के लिए लंबी पढ़ाई नहीं कर सकते किस न किसी कारण से बच्चों को लंबी पढ़ाई का रास्ता छोड़ना पड़ता है। लेकिन उसके बाद भी अगर आप एक इंजीनियर बनना चाहती हैं तो उसके लिए डिप्लोमा या पूरी डिग्री हासिल करने की जरूरत नहीं है। ITI पॉलिटेक्निक कोर्स से छात्रों को कई तरह के फायदे होंगे जैसे आसानी से जॉब मिलना कम। उम्र में ही अच्छी जॉब के साथ करियर सेट होना 3 या 4 साल के लंबे कोर्स में लगने वाले समय से बचना।



मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के लिए क्या-क्या योग्यताएं चाहिए ?

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए जो जो योग्यताएं चाहिए होती है उसे पास करना पड़ता है अगर आप जिस कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं उसकी शर्तों को पूरा नहीं करते हैं तो आप उस कोर्स में एडमिशन नहीं ले पाएंगे इसके अलावा जिस कॉलेज से आप कोर्स करना चाहते हैं उसके पास कुछ अन्य शर्तें भी हो सकती है प्रवेश के लिए आवेदन करने से पहले आपको कॉलेज में कोर्स की सभी शर्तों की जांच करनी चाहिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लगभग सभी कोर्स के लिए बुनियादी योग्यता की बात करें। तो कुछ इस तरह से है।


   • आपकी उम्र 14 साल से अधिक और 40 साल से कम होनी चाहिए।

   • अपने रेगुलर स्कूल से दसवीं या आठवीं पास किया हो।

   • जिस स्कूल से अपने स्कूलिंग पूरी की है वह एक मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड के अंदर आना चाहिए।

   • दसवीं या आठवीं में जितने भी विषय थे सभी में पास होना अनिवार्य है।

   • मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के लिए जो कोर्स आप लेना चाहते हैं उसके लिए जो जो सब्जेक्ट जरूरी है वह आपके पास दसवीं और आठवीं में होने चाहिए।

   • इस मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए फ़िज़िक्स, केमिस्ट्री और मैथ सब्जेक्ट जरूरी है।



मैकेनिकल इंजीनियरिंग के किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने का प्रोसेस क्या है ?

मेकैनिकल इंजीनियरिंग में प्रवेश लेने के लिए हर जगह अलग-अलग तरीका होता है। छात्रों को पहले से अपने पसंदीदा कॉलेज के द्वारा उपयोग की जाने वाली चयन प्रक्रिया की जांच करनी चाहिए। ताकि उन्हें पहले से चयन प्रक्रिया की अछि समझ हो। आमतौर पर छात्रों को चुनने के लिए निम्नलिखित विधि का उपयोग किया जाता है। ज्यादातर मामलों में छात्रों का चयन योग्यता के आधार पर किया जाता है। छात्रों को उनकी योग्यता मतलब कि उन्होंने कितने अंक दसवीं और आठवीं की परीक्षा में पाए हैं उसके आधार पर चुना जाता है। इसके बाद कॉलेज एक कटऑफ सूची जारी करती है जिसमें ज्यादा नंबर वाले छात्रों को लिया जाता है कुछ कॉलेज छात्रों का चयन करने के लिए उनकी अलग से एक प्रवेश परीक्षा यानी एंट्रेंस एग्जाम लेते हैं आवेदकों को परीक्षा देनी पड़ती है और उनका चयन परीक्षा में आए अंक के आधार पर होता है। छात्रों के चयन के लिए कुछ कॉलेज में इंटरव्यू भी लिए जाते हैं। अलग अलग इंस्टुट का अलग-अलग तरीका होता है छात्रों के चयन का इसका पता आप इंस्टिट्यूट की वेबसाइट से लगा सकते हैं।



ITI कोर्स के एग्जाम के बारे में कि ये कैसे होता है और सर्टिफ़िकेट कैसे मिलता है ?

हर संस्था का अपना बोर्ड होता है कई सारे कॉलेज स्टेट बोर्ड के तहत एग्जाम लेते हैं ITI का तरीका थोड़ा अलग होता है। जिसभी कोर्स में स्टूडेंट्स एडमिशन लिया है उसकी सारी क्लास खत्म होने के बाद उसे AITT(All India Trade Test) का एग्जाम देना होता है जो NCVT(National Council Vocational Training) करवाते है। एग्जाम पास करने के बाद स्टूडेंट को नेशनल ट्रेड से सर्टिफ़िकेट मिल जाता है। जिसके बाद वो कहि भी इस सर्टिफ़िकेट और अपनी योग्यता के आधार पर जॉब के लिए सप्लाई कर सकता है।



मैकेनिकल इंजीनियरिंग से करने के लिए कौन से कॉलेज सबसे अच्छे हैं ?

भारत के हर राज्य में बहुत सारे सरकारी और प्राइवेट कॉलेज है जो मैकेनिकल इंजीनियरिंग कराते हैं। यहां पर हम कुछ बहुत ही बढ़िया सरकारी और प्राइवेट कॉलेजेस के नाम आपको बताएँगे जहां से मैकेनिकल इंजीनियरिंग करके स्टूडेंट्स अच्छी जगह नौकरी कर सकते हैं।


   • Govt Industrial Training Institute, Purulia

   • Government Industrial Training Institute, Raebareli

   • Government Industrial Training Institute, Tiruchendur

   • Government Industrial Training Institute, Madurai

   • Industrial Training Institute, Mandvi (Surat)

   • Government Industrial Training Institute, Trichy

   • Salboni Government ITI

   • Veermatajijabai Technological Institute, Mumbai

   • Government Polytechnic, Pune

   • Government Polytechnic, College, Aurangabad

   • Pusa Institute of Technology, Delhi

   • Shri K.J. Polytechnic College Bharuch

   • ATTC(Advanced Technical Training Center, Sikkim

   • Government Polytechnic, Rajkot

   • Technological University, Gujarat



मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बाद जॉब कैसे मिलती है ?

दोस्तों मैकेनिकल इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा करने के बाद एग्जाम देना होता है। Polytechnic और ITI में अलग-अलग तरीके से एग्जाम लेती है उस एग्जाम में पास होने के बाद जॉब के लिए कई सारे ऑप्शन खुल जाते हैं कई सारे कॉलेज का अपना प्लेसमेंट सेल होता है जहां से वह प्राइवेट सेक्टर में जॉब पा सकते हैं। शुरुआत में सैलरी कम हो सकती है लेकिन जैसे-जैसे काम का अनुभव जुड़ता जाता है वैसे-वैसे उनकी सैलरी बढ़ती जाती है। कई छात्र मैकेनिकल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कोर्स करने के बाद दूसरे देशों में जाकर नौकरी करते हैं। सरकारी क्षेत्र में भी कई सारी वैकेंसी निकलती है। कई सारी नोकरियो में ITI लोगों के लिए अलग से रिजर्वेशन भी होता है जिसमें आप अपनी योग्यता के आधार पर अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा यह छात्र और भी कई तरह के सेंट्रल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट, डिफेंस आदि के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।



दोस्त अब हमें उम्मीद है की आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग से जुड़ी सारी जानकारियाँ आपको इस पोस्ट में मिल गया होगा। और हमारी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि जिस भी विषय पर हम पोस्ट लिखे उसमें सारी जानकारी दे सके ताकि आपको और कहीं जाने की जरूरत ना पड़े। और अगर आपका कोई सवाल है तो प्लीज आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख करके जरूर बताएं। धन्यवाद !

Am2z Tm

Hello Guys My Name Is Sonu Kumar. I’m A Student • Blogger • YouTuber. In This Website We Share Legit and Original Content Related To Blogging, Tech News, SEO, Online Earnings, Tips and Tricks, Gaming News, YouTube So If You Like Over Content Then Also Share With Your Friends. Thank you !

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Previous Post Next Post